Heartfulness is Lovefulness

व्यक्ति के अस्तित्व का केन्द्र हृदय है और इसलिये यह विचार आता है कि यह प्रेम का समानार्थी तो नहीं! प्रेम ही वह वह सबसे अधिक चाही जाने वाली आवश्यकता और हमारे जीवन की उच्चतम प्रेरणा भी है। यह एक शक्तिशाली बल है, चाहे हमारा प्रेम किसी के भी प्रति हो। यह वही है जो हमें लड़ना, रक्षा करना, त्याग…… Read More.